नवजोत सिंह सिद्धू की नज़र अब इस पद पर, कांग्रेस में बैचेनी का आलम

0

लोकसभा चुनाव के 17वें सदन में कांग्रेस को जितनी कम सीटें मिली हैं, खलबली उतनी ज़्यादा ही बढ़ गयी है, चुनाव के फैसले ने साफ कर दिया था कि जनता ने कांग्रेस को अपने भरोसे से निकाल दिया है। लोकसभा चुनाव के इस झटके से कांग्रेस में खलबली नजर आ रही है। जहां पंजाब में सियासी हलचल मची हुई है। तो अब कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू की खामोशी ने सबको परेशान कर दिया है।

कई बड़े नेता उनकी खामोशी से बेचैन हो गए हैं। क्योंकि विभाग में बदलाव होने के बावजूद सिद्धू ने एक सप्ताह से अपना कार्यभार नहीं संभाला है। सूत्रों की मानें तो सिद्धू की इच्छा छोटे पद का कार्यभार संभालने की नहीं बल्कि बड़े पद को संभालने की है। वो चाहते हैं कि, उन्हें पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद या कैबिनेट में बड़े विभाग मिले।

सिद्धू तो बैठकों से गायब ही हो गयें हैं

बता दें, बिजली विभाग में इन दिनों किसानों को आठ घंटे बिजली की आपूर्ति करने के लिए बैठकों का सिलसिला लगातार चल रहा है। पर सिद्धू इन सारी बैठकों से गायब हैं। हालांकि उन्होंने इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी व महासचिव प्रियंका गांधी से दिल्ली में मुलाकात भी की है। पर कार्यभार संभालने को लेकर उनकी खामोशी ने कांग्रेस में कई तरह की चर्चा छेड़ दी है।

यह भी पढ़ें- ममता बनर्जी की बीजेपी को खुली चुनौती…बंगाल को नहीं बनने देंगे गुजरात…

सिद्धू के पास नहीं अब बिजली विभाग की कमान

कांग्रेस की माने तो सिद्धू इस समय किसी बड़े पद के फिराक में हैं, फिलहाल तो पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह शाम को दिल्ली के लिए रवाना हो रहे हैं। वो यहां 15 जून को पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे। और साथ ही नीति आयोग की बैठक में शामिल होंगे। पर यहां सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात ये है कि, पंजाब के सीएम भी सिद्धू को उनकी इस हरकत पर कुछ नहीं बोल रहे हैं। सिद्धू के साथ सीएम की चुप्पी ने पूरे मामले को लेकर हलचल पैदा कर दी है।

E - Paper